Magh Purnima 2023: माघ पूर्णिमा पर रवि- पुष्य नक्षत्र का विशेष संयोग, करें ये ज्योतिषीय उपाय, अक्षय पुण्य की होगी प्राप्ति

Magh Purnima 2023: माघ पूर्णिमा पर सिर्फ कीजिए इतना, सुख-सौभाग्य के साथ अश्वमेध यज्ञ का मिलेगा फल- (जनसत्ता)

Magh Purnima 2023: वैदिक पंचांग के अनुसार हर साल माघ मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को माघ पूर्णिमा मनाई जाती है। मान्यता है कि  इस दिन धन-वैभव की देवी माता लक्ष्मी प्रसन्न रहती हैं और माघ पूर्णिमा पर दान- स्नान करने से व्यक्ति को अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। माघ पूर्णिमा पर देश की सभी पवित्र नदियों पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ रहती है। साथ ही प्रयाग में माघ स्नान को काफी पुण्य दायक बताया गया है।

धार्मिक मान्यता है कि इस दिन देवतागण पृथ्वी लोक पर भ्रमण करने आते हैं और जो लोग दान- स्नान करते हैं उनको आशीर्वाद देते हैं। इस साल माघ पूर्णिमा के दिन रवि पुष्य योग बना है। रवि पुष्य योग धन, धान्य, सुख, वैभव में उन्नति करने वाला है। इसलिए इस दिन का विशेष महत्व है। आइए जानते हैं इस दिन कौन से कार्य करने से अक्षय पुण्य और अश्वमेध यज्ञ के बराबर फल मिल सकता है…

माघ पूर्णिमा तिथि (Magh Purnima 2023 Tithi) 

पंचांग के मुताबिक माघ पूर्णिमा का आरंभ 04 फरवरी 2023 शनिवार को रात 09 बजकर 28 मिनट पर हो रहा है और इसका अंत अगले दिन 05 फरवरी, रविवार को रात 11 बजकर 57 मिनट पर होगा। इसलिए उदयातिथि को आधार मानते हुए माघ पूर्णिमा 5 फरवरी को मनाई जाएगी।

बन रहा रवि- पुष्य का संयोग

वैदिक पंचांग के अनुसार 05 फरवरी को आप सुबह 07 बजकर 06 मिनट से लेकर 12 बजकर 12 मिनट के बीच रवि पुष्य योग बन रहा है। ये योग खरीदारी के लिए बेहद शुभ है। आप इसमें वाहन या सोना- चांदी खरीद सकते हैं।

ये करें ज्योतिषीय उपाय

सूर्य देव को दें अर्घ्य 

ज्योतिष अनुसार इस दिन स्नान करने से कुंडली में ग्रहों की स्थिति मजबूत हो जाती है और सभी तरह के दोष भी दूर हो जाते हैं। इसलिए इस दिन पवित्र नदियों में स्नान करने के बाद सूर्य देव को अर्घ्य दें। साथ ही आदित्यह्रदय स्त्रोत का पाठ करें। ऐसा करने से आपको सूर्य दोष से मुक्ति मिलेगी। साथ ही जीवन में सुख- समृद्धि बनी रहेगी।

Also Read

15 फरवरी से चमक सकता है इन 3 राशि वालों का भाग्य, धन के दाता शुक्र ग्रह की रहेगी विशेष कृपा

कोई काम नहीं बन रहा हो तो

अगर आपका कोई काम अटक रहा हो और काफी कोशिशों के बावजूद उसमें सफलता नहीं मिल पा रही हो तो अपने मंदिर में रवि पुष्य योग में एक घी का दीपक जलाएं। साथ ही भगवान से कार्य बनने की प्रार्थना करें। मान्यता है कि आपका वो काम जल्दी बन जाएगा।

Also Read

केतु ग्रह चलेंगे उल्टी चाल, इन 3 राशि वालों की धन- दौलत में अपार बढ़ोतरी के आसार

मोक्ष की होती है प्राप्ति

यदि आप प्रयाग में माघ पूर्णिमा के समय संगम में स्नान करते हैं तो आपको अर्थ, धर्म, काम और मोक्ष की प्राप्ति होती है। साथ ही जीवन में सुख- समृद्धि का वास रहता है।

इन चीजों का करें दान

माघ पूर्णिमा पर गरीबों और जरूरतमंदों को गुड़, गेहूं, चावल, सफेद वस्त्र, दूध, घी आदि का दान करें। दान करने से आरोग्य के साथ सुख-सौभाग्य प्राप्त होता है।

रवि पुष्य में खरीदें सोना और चांदी

इस दिन रवि पुष्य योग में सोना- चांदी खरीदनी चाहिए। क्योंकि चांदी में मां लक्ष्मी का वास माना जाता है। चांदी खरीदने से जीवन में सुख- समृद्धि का वास रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *